28 अक्टूबर से एक सप्ताह चलेगा दीपावली मेला

बदायूँ: 20 अक्टूबर। जिलाधिकारी दीपा रंजन ने मुख्य विकास अधिकारी निशा अनंत, अपर जिलाधिकारी प्रशासन ऋतु पुनिया, सीएमओ डाॅ0 विक्रम सिंह पुण्डीर, एसपी सिटी प्रवीण सिंह चैहान व अन्य सम्बंधित अधिकारियों के साथ कलेक्ट्रेट स्थित सभागार में दीपावली की बैठक कर मेले की नियुक्त समिति को कार्य सौंपे हैं।
शासन के आदेशों के क्रम में डीएम ने निर्देश दिए हैं कि दीपावली का पर्व 04 नवम्बर 2021 को होगा। लगभग एक सप्ताह पूर्व अर्थात 28 अक्टूबर 2021 से दीपावली मेला का शुभारम्भ प्रत्येक नगर पालिका अन्तर्गत व्यवस्थित रूप से करते हुये मेला आयोजित कराया जाये। जनपद की समस्त सात नगर पालिकाओं के खुले मैदानों में कार्यक्रम का आयोजन किया जाए। मेले में पटरी विक्रेताओं हेतु स्थल चिन्हांकन, फूड स्टाल, मनोरंजन के झूले आदि व सांस्कृतिक गतिविधियों हेतु मंच एवं दर्शकों हेतु पर्याप्त स्थान की सुविधा, पार्किंग आदि विभिन्न व्यवस्थाओं को किया जाए। एक आकर्षक मेले में त्यौहार के अवसर पर सम्भावित जनसमूह की संख्या के दृष्टिगत मेला के आयोजन हेतु उपयुक्त स्थल का चयन किया जाए। मेले का मूल अन्तर्निहित उद्देश्य पथ विक्रेताओं को उपरोक्त मेला अवधि में अपनी आय बढ़ाये जाने के दृष्टिगत अधिकाधिक सामग्री /वस्तु के विक्रय किये जाने का अवसर दिया जाना है। मेला स्थल पर अधिकाधिक संख्या में प्रधानमंत्री स्वनिधि योजनान्तर्गत पंजीकृत/ऋणग्राही स्ट्रीट वेण्डर को सामग्री विक्री करने हेतु समुचित रूप से स्थान उपलब्ध कराया जायेगा। मेले में आयोजित होने वाली गतिविधियों यद्यपि पर्व/त्यौहार के अवसर पर आयोजित होने वाले इस दीपावली मेले का मुख्य उद्देश्य पटरी, रेहड़ी विक्रेताओं को इस अवसर पर अपनी आय बढ़ाये जाने के दृष्टिगत एक उपयुक्त प्लेटफार्म उपलब्ध कराना है। मेले में पटरी दुकानदारों हेतु समुचित विक्रय स्थल उपलब्ध कराये जाने के साथ फूड स्टाल एवं बच्चों के लिये सुरक्षित प्रकार के झूले आदि के मनोरंजनात्मक स्टाल उपलब्ध होने चाहिए। सांस्कृतिक कार्यक्रमों को मेले के आरम्भिक तीन दिवसों में आयोजित किया जायेगा। मेले में एक सांस्कृतिक मंच भी बनाया जाये जहाँ न केवल विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों बल्कि अन्य प्रकार के आकर्षक कार्यक्रम जैसे कि मैजिक शो, नुक्कड़ नाटक, कठपुतली, स्थानीय लोक गायन, स्थानीय कौशल एवं कला का प्रदर्शन आदि कार्यक्रम मेला अवधि में प्रतिदिन आयोजित किये जाये। सांस्कृतिक मंच के साथ एलईडी स्क्रीन लगाने की व्यवस्था भी की जाये, जिसके माध्यम से विगत साढ़े चार वर्षों में विभिन्न क्षेत्रों में राज्य सरकार द्वारा की गयी प्रगति एवं उपलब्धि को प्रदर्शित किया जाये। मेले को आकर्षक बनाये जाने के दृष्टिगत स्वच्छता सेल्फी/सेल्फी विद ग्रेट लीडर्स तथा विभिन्न प्रकार के पोस्टर, स्लोगन आदि की प्रतियोगिता को आयोजित कराये जाने की गतिविधि भी संपादित की जानी चाहिये, जिससे अधिकाधिक संख्या में उपरोक्त स्थल पर जनमानस की प्रतिभागिता सुनिश्चित हो। मेला स्थल पर कोविड एवं अन्य प्रकार के संक्रामक बीमारियों से बचाव की समुचित व्यवस्था भलीभांति सुनिश्चित की जाये। मेले में प्रतिभाग करने वाले लोग मास्क पहनें। मेला परिसर समुचित प्रकार से नियमित रूप से सेनेटाइज किया जाये और स्थल पर हेण्ड सेनेटाइजर की व्यवस्था भी सुनिश्चित रहे इसका विशेष ध्यान रखा जाये। मेला परिसर में नियमित साफ सफाई तथा स्वच्छ पेयजल एवं अन्य यथावश्यक जन सुविधाओं का समुचित प्रबंधन भी सुनिश्चित किया जाये। प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के लाभार्थियों के एक डेडीकेटेड पंजीकरण डेस्क भी लगायी जाये एवं बैंकों के सहयोग से डिजिटल लेन-देन के विषयगत जानकारी दिये जाने के स्टाल मेले में लगाया जाना अत्यन्त उपयुक्त होगा। मेले में ओ.डी.ओ.पी. एवं एम.एस.एम.ई. के स्टाल को भी अनिवार्यतः सम्बन्धित विभाग के सहयोग से लगाया जाये।
इन स्थानों पर आयोजित होगा मेला-नगर पालिका परिषद बदायूँ का गांधी ग्राउंड में, नगर पालिका परिषद बिसौली का खेल का मैदान में, नगर पालिका परिषद सहसवान का पन्ना लाल इंटर काॅलेज के मैदान में, नगर पालिका परिषद ककराला का नगर पालिका परिषद इंटर काॅलेज के मैदान में, नगर पालिका परिषद दातागंज का पन्ना लाल वाली मार्केट में, नगर पालिका परिषद बिल्सी तथा उझानी का इनके रामलीला मैदान में मेले का आयोजन किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: कॉपीराइट अधिनियम के अनुसार इस न्यूज़ पोर्टल का कंटेंट कॉपी करना गैरकानूनी है