यूरिया की होम डिलीवरी की मांग को लेकर किया सत्याग्रह।

कृषि व सहकारिता विभाग के अधिकारियों के खाद माफियाओं से सम्बन्धों एवं परिसम्पतियों की हो उच्च स्तरीय जांच।

जनपद में लम्बे समय से कार्यरत अधिकारियों के स्थानांतरण की मांग को लेकर चलेगा अभियान।

भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के तत्वावधान में अभियान के मुख्य प्रवर्तक हरि प्रताप सिंह राठोड़ एडवोकेट के नेतृत्व में अभियान के सहयोगियों द्वारा मालवीय आवास गृह बदायूं पर राष्ट्र राग ” रघुपति राघव राजाराम ……” का कीर्तन कर सत्याग्रह किया गया । तदन्तर मुख्यमंत्री को संबोधित तीन सूत्रीय मांग पत्र जिलाधिकारी बदायूं को सौंपा गया।
इस अवसर पर विचार व्यक्त करते हुए भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के मुख्य प्रवर्तक हरि प्रताप सिंह राठोड़ एडवोकेट ने कहा कि जनपद ही नहीं अपितु प्रदेश भर में यूरिया की कृत्रिम किल्लत पैदा कर दी गई है। खाद माफिया बेलगाम है, तथा उन्हें किसानों के शोषण की छूट मिली हुई है। जनपद बदायूं में कृषि व सहकारिता विभाग में लम्बे समय से कार्यरत अधिकारियों के खाद माफियाओं से साठ-गांठ है,साथ ही उनकी चल अचल परिसम्पतियों में भी गुणोत्तर वृद्धि हुई है। लम्बे समय से कार्यरत अधिकारियों को हटाये जाने के साथ ही उनकी चल अचल परिसम्पतियों की एवं खाद माफियाओं से उनके सम्बन्धो की जांच कराया जाना आवश्यक है। किसानों के हितों के दृष्टिगत यूरिया की होम डिलीवरी की व्यवस्था लागू की जानी चाहिए। भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के सहयोगी शीघ्र ही कृषि, सहकारिता, चिकित्सा,ग्राम विकास,पन्चायत राज, आपूर्ति तथा खाद्य सुरक्षा विभाग में लम्बे समय से जनपद में कार्यरत अधिकारियों के स्थानांतरण की मांग को लेकर अभियान चलायेंगे।

सत्याग्रह में प्रमुख रूप से डाल भगवान सिंह,एम एल गुप्ता, डॉ रामरतन सिंह पटेल, कैप्टन राम सिंह,जयकिशन लाल शर्मा, वेदपाल सिंह,शमसुल हसन, रामगोपाल,एम एच कादरी, अखिलेश सिंह,अभय माहेश्वरी, राम-लखन,असद अहमद,नारद सिंह, महेश चंद्र,आर्येन्द्र पाल सिंह, सतेन्द्र सिंह, कृष्ण गोपाल, ज्ञानेंद्र सिंह,अजय यादव,प्रमोद कुमार, रीतेश चौहान, नेत्रपाल, वीरेन्द्र कुमार, अखिलेश सोलंकी, अरविंद कुमार, वीरपाल आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: कॉपीराइट अधिनियम के अनुसार इस न्यूज़ पोर्टल का कंटेंट कॉपी करना गैरकानूनी है